अनुशंसा

सिंघल फाउण्डेशन को विदित है कि कई वेद गुरु वेदाध्यापन को अपना धर्म समझ वेद के प्रति समर्पित हैं व वे किसी पुरस्कार इत्यादि के लिए अपना आवेदन नहीं देना चाहते। हम ऐसे पूर्णरूपेण समर्पित अध्यापकों को भी भारतात्मा पुरस्कार की प्रक्रिया से जोड़ना चाहते हैं। भारतात्मा पुरस्कार की इस तृतीय शृंखला (२०१९) से आदर्श वेदाध्यापक श्रेणी हेतु योग्य नामों की अनुशंसा करने का भी प्रावाधान किया गया है | वेदाध्यापक श्रेणी हेतु निर्धारित मानदंडों एवं निजी ज्ञान के आधार पर कोई भी वैदिक विद्वान अथवा विद्यार्थी अपने गुरूजी का नाम व सम्पर्क जानकारी सिंघल फाउण्डेशन को ईमेल या SMS पर १५ मार्च से १ जून २०१९ के तक भेज सकते हैं। हम अनुशंसित गुरुजी से संपर्क कर उनका आवेदन प्राप्त करने का प्रयत्न करेंगे।